करेंट अफेयर्स 24 जून 2022

Blog
24-Jun-2022 10+

करेंट अफेयर्स 24 जून 2022

01. यूएस-कनाडाई लेखिका रूथ ओजेकी ने फिक्शन के लिए महिला पुरस्कार जीता

 

  • प्रसिद्ध अमेरिकी-कनाडाई लेखिका, फिल्म निर्माता और जेन पुजारी रूथ ओजेकी ने इस साल उनके उपन्यास "द बुक ऑफ फॉर्म एंड एम्प्टीनेस" के लिए महिला फिक्शन पुरस्कार जीता।

 

  • ओजेकी का चौथा उपन्यास, 'द बुक ऑफ फॉर्म एंड एम्प्टीनेस' एक तेरह वर्षीय लड़के की कहानी बताता है, जो अपने पिता की दुखद मृत्यु के बाद, उससे बात करने वाली वस्तुओं की आवाजें सुनना शुरू कर देता है।

 

  • उन्हें लंदन में एक समारोह में £30,000 के पुरस्कार के विजेता के रूप में घोषित किया गया था, जिसमें एलिफ शफाक, मेग मेसन और लुईस एर्ड्रिच सहित नामांकित व्यक्ति शामिल थे।

 

  • ओज़ेकी के पिछले कार्यों में 2013 बुकर पुरस्कार-नामांकित ए टेल फॉर द टाइम बीइंग, प्लस उपन्यास माई ईयर ऑफ मीट्स और ऑल ओवर क्रिएशन शामिल हैं।

 

  • वह मैसाचुसेट्स के स्मिथ कॉलेज में रचनात्मक लेखन भी पढ़ाती हैं और ब्रुकलिन ज़ेन सेंटर और एवरीडे ज़ेन फाउंडेशन से संबद्ध हैं।

 

02. लिसा स्टालेकर FICA की पहली महिला अध्यक्ष बनी

 

 

  • महान ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर लिसा स्टालेकर को फेडरेशन ऑफ इंटरनेशनल क्रिकेटर्स एसोसिएशन (FICA) का नया अध्यक्ष चुना गया है।

 

  • लिसा FICA की अध्यक्ष बनाने वाली पहली महिला हैं। भारतीय मूल की लिसा को यह पद देने का फैसला FICA की एग्जक्यूटिव कमेटी की मीटिंग में लिया गया। यह मीटिंग स्विट्जरलैंड के नियोन में हुई थी।

 

  • इससे पहले FICA के अध्यक्ष पद पर इंग्लैंड टीम के पूर्व क्रिकेटर विक्रम सोलंकी काबिज थे।

 

  • भारतीय मूल के विक्रम सोलंकी टीम इंडिया के लिए अंडर-19 क्रिकेट भी खेल चुके हैं। वहीं कैस आलों तक वे इंग्लैंड टीम का अहम हिस्सा रहे हैं।

 

  • लिसा और विक्रम से पहले इस पद पर साउथ अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज बैरी रिचर्ड्स, वेस्टइंडीज के पूर्व ऑलराउंडर जिमी एडम्स भी आसिन हो चुके हैं।

 

  • लिसा ने अपनी ऑस्ट्रेलियाई टीम को 2013 में वर्ल्ड कप जिताया था। लिसा का जन्म 13 अगस्त 1979 को महाराष्ट्र के पुणे में हुआ था।

 

  • लिसा ने अंतररास्तरीय क्रिकेट में 2001 में डेब्यू किया था। उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए 8 टेस्ट, 125 वनडे और 54 टी20 मैच खेले हैं।

 

03. जयपुर में ‘आईस्टार्ट राजस्थान’ के तहत हुआ ‘ड्रोन एक्सपो-2022’

 

  • सूचना प्रौद्योगिकी और संचार विभाग के ‘आईस्टार्ट राजस्थान’ के तहत झालाना सांस्थानिक क्षेत्र स्थित टेक्नो हब में ‘ड्रोन एक्सपो-2022’ का आयोजन किया गया।

 

  • ड्रोन एक्सपो-2022 में 50 से अधिक ड्रोन निर्माताओं ने अपने ड्रोन की क्षमताओं का प्रदर्शन किया।

 

  • ड्रोन निर्माताओं में से किसी ने बाढ़ या समुद्र के भीतर आपातकालीन परिस्थितियों में ड्रोन के जीवनरक्षक बनने का प्रदर्शन किया।

 

  • तो किसी ने आसमान में एरोबेटिक्स दिखाकर सिंचाई और खेती में ड्रोन के मददगार बनने की क्षमताओें को दिखाया।

 

  • गौरतलब है कि मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के अनुसार राज्य सरकार इस वर्ष विभिन्न विभागों के लिये एक हज़ार ड्रोन खरीदने की योजना बना रही है।

 

  • सूचना प्रौद्योगिकी और संचार विभाग के प्रमुख शासन सचिव अखिल अरोड़ा ने ड्रोन प्रदर्शनी का अवलोकन किया और विभागीय अधिकारियों को ड्रोन का उपयोग सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।

 

  • ‘आईस्टार्ट राजस्थान’ प्रदेश में उद्यमिता और नवाचार को बढ़ावा देने के लिये सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के तहत राज्य सरकार की प्रमुख योजना है, जहाँ वर्तमान में 1700 से अधिक स्टार्टअप पंजीकृत हैं और 200 स्टार्टअप इनक्यूबेट हैं।

 

  • राज्य सरकार की ओर से 300 से अधिक स्टार्टअप को वित्तीय सहायता प्रदान की जा चुकी है। 

 

04. आईओसी ने घर के अंदर इस्तेमाल किया जाने वाला सौर चूल्हा पेश किया

 

  • भारत की प्रमुख तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) ने बुधवार को घर के अंदर इस्तेमाल किया जाने वाला सौर चूल्हा पेश किया, जिसे रिचार्ज किया जा सकता है।

 

  • सौर ऊर्जा से चलने वाले इस चूल्हे को रसोई घर में रखकर उपयोग में लाया जा सकता है।

 

  • इस चूल्हे को खरीदने की लागत के अलावा रखरखाव पर कोई खर्च नहीं है और इसे जीवाश्म ईंधन के विकल्प के रूप में देखा जा रहा है।

 

  • पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने अपने आधिकारिक आवास पर एक कार्यक्रम की मेजबानी की, जहां इस चूल्हे पर पका खाना परोसा गया।

 

  • इस चूल्हे को ‘सूर्य नूतन’ नाम दिया गया है।

 

  • इस अवसर पर आईओसी के निदेशक (आरएंडडी) एस एस वी रामकुमार ने कहा कि यह चूल्हा सौर कुकर से अलग है, क्योंकि इसे धूप में नहीं रखना पड़ता है।

 

  • सूर्य नूतन को फरीदाबाद में आईओसी के अनुसंधान और विकास विभाग ने विकसित किया है, जो छत पर रखे पीवी पैनल के जरिए प्राप्त सौर ऊर्जा से चलता है।

 

05. मंगोलिया के खुव्सगुल झील राष्ट्रीय उद्यान को यूनेस्को के बायोस्फीयर रिजर्व का विश्व नेटवर्क में जोड़ा गया

 

  • हाल ही में मंगोलिया के खुव्सगुल झील राष्ट्रीय उद्यान को यूनेस्को के बायोस्फीयर रिजर्व का विश्व नेटवर्क में जोड़ा गया।

 

  • मानव और जैवमंडल कार्यक्रम के अंतर्राष्ट्रीय समन्वय परिषद के 34वें सत्र के दौरान खुव्सगुल झील को बायोस्फीयर रिजर्व का विश्व नेटवर्क में जोड़ने का निर्णय लिया गया।

 

  • खुल्सगुल झील मंगोलिया के खुव्सगुल प्रांत में रूसी सीमा के पास स्थित है।

 

  • इसमें मंगोलिया का लगभग 70 प्रतिशत ताजा पानी है और यह समुद्र तल से 1,645 मीटर ऊपर है। यह 136 किमी लंबा और 262 मीटर गहरा है।

 

  • मंगोलिया में कुल नौ स्थल बायोस्फीयर रिजर्व के विश्व नेटवर्क के अंतर्गत हैं।

 

बायोस्फीयर रिजर्व का विश्व नेटवर्क :-

 

  • यह नामित संरक्षित क्षेत्रों का एक नेटवर्क है जिसे बायोस्फीयर रिजर्व के रूप में जाना जाता है।

 

  • यह ज्ञान साझा करने, अनुभवों का आदान-प्रदान करने, क्षमता निर्माण और सर्वोत्तम प्रथाओं को बढ़ावा देने के माध्यम से सहयोग को बढ़ावा देता है।

 

  • यह मानव और जैवमंडल कार्यक्रम के अंतर्गत आता है।

 

06. इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा सौर ऊर्जा से चलने वाला पहला हवाई अड्डा बना

 

  • दिल्ली का इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय (IGI) हवाई अड्डा 1 जून से पूरी तरह से पनबिजली और सौर ऊर्जा पर स्विच हो गया है।

 

  • यह भारत का पहला हवाई अड्डा बन गया है जो अपनी सभी खपत जरूरतों के लिए हरित ऊर्जा का उपयोग करता है।

 

  • इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय (IGI) हवाई अड्डा ऊर्जा की आवश्यकता का 6 प्रतिशत सौर ऊर्जा से पूरा करता है जबकि शेष 94 प्रतिशत ऊर्जा जल विद्युत संयंत्रों से आती है।

 

  • अक्षय ऊर्जा के उपयोग से हवाई अड्डे को प्रति वर्ष 2 लाख टन कार्बन डाइऑक्साइड ऊर्जा उत्सर्जन को कम करने में मदद मिलेगी।

 

  • दिल्ली का इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय (IGI) हवाई अड्डा 2030 तक शुद्ध शून्य कार्बन उत्सर्जन हवाई अड्डा बनने का लक्ष्य लेकर चल रहा है।

 

  • दिल्ली हवाईअड्डा 2020 में एसीआई के हवाईअड्डा कार्बन प्रत्यायन कार्यक्रम के तहत 'स्तर 4+' प्राप्त करने वाला एशिया-प्रशांत क्षेत्र का पहला हवाई अड्डा था।

 

  • कोचीन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा भारत का पहला हवाई अड्डा है जो पूरी तरह से सौर ऊर्जा से चलता है।

 

07. जम्मू कश्मीर में भूकंप विज्ञान वेधशाला का उद्घाटन

 

  • विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने उधमपुर, जम्मू और कश्मीर में भूकंप विज्ञान वेधशाला का उद्घाटन किया।

 

  • उधमपुर में भूकंपीय वेधशाला पृथ्वी की पपड़ी (क्रस्ट) की आंतरिक गतिविधियों से संबंधित डेटा रिकॉर्ड करेगी और क्षेत्र में भूकंप की निगरानी में मदद करेगी।

 

  • उधमपुर जम्मू-कश्मीर में तीसरा स्थान है जहां अब इस तरह के भूकंपीय अवलोकन दर्ज किए जाएंगे।

 

  • यह 'नेशनल सेंटर ऑफ सीस्मोलॉजी के तत्वावधान में नवीनतम, उन्नत और विश्व स्तरीय 'भूकंप वेधशाला' है।

 

  • पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के तहत राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र (NCS) नई दिल्ली में स्थित है।

 

  • उधमपुर जिला मुख्य फ्रंटल थ्रस्ट (एमएफटी) और मुख्य बाउंड्री थ्रस्ट (एमबीटी) के बीच स्थित है।

 

  • पिछले आठ वर्षों में, भारत ने देश भर में 70 से अधिक ऐसी वेधशालाएँ स्थापित की हैं।

 

  • सरकार अगले 5 वर्षों में ऐसे 100 और भूकंप विज्ञान केंद्र स्थापित करने की योजना बना रही है।

 

  • इन केंद्रों को 'भूकंपीय माइक्रोज़ोनेशन पहल के हिस्से के रूप में स्थापित किया जा रहा है।

 

  • इसका उद्देश्य भूकंप-रोधी संरचनाओं और बुनियादी ढांचे के लिए भू-तकनीकी और भूकंपीय पैरामीटर बनाना है।

 

  • ये भूकंपीय वेधशालाएं रीयल-टाइम डेटा मॉनिटरिंग और डेटा संग्रह में मदद करेंगी।

 

08. विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर 26वीं राष्ट्रमंडल देशों के शासनाध्यक्षों की बैठक (सीएचओजीएम) में भाग लेंगे

 

  • डॉ. एस. जयशंकर 26वीं राष्टमंडल देशों के शासनाध्यक्षों की बैठक (सीएचओजीएम) में भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करने के लिए रवांडा के चार दिन की यात्रा पर हैं।

 

  • 26वीं राष्ट्रमंडल देशों के शासनाध्यक्षों की बैठक 20-25 जून 2022 तक किगाली, रवांडा में आयोजित की जा रही है।

   

  • 'डिलीवरिंग ए कॉमन फ्यूचर: कनेक्टिंग, इनोवेटिंग, ट्रांसफॉर्मिंग' शिखर सम्मेलन का विषय है।

 

  • राष्ट्रमंडल सदस्य देशों के प्रतिनिधि जलवायु परिवर्तन, खाद्य सुरक्षा और स्वास्थ्य मुद्दों सहित विभिन्न वैश्विक मुद्दों पर चर्चा करेंगे।

 

  • डॉ. एस. जयशंकर राष्ट्रमंडल सदस्य देशों के अपने समकक्षों के साथ कई द्विपक्षीय बैठकें भी करेंगे।

 

  • भारत राष्ट्रमंडल में सबसे बड़े योगदानकर्ताओं में से एक है और यह राष्ट्रमंडल के सदस्यों के साथ अपने संबंधों को गहरा करने के लिए प्रतिबद्ध है।

 

राष्ट्रमंडल देश :-

 

  • यह 54 देशों का एक स्वैच्छिक राजनीतिक संगठन है।

 

  • इस संघ के अधिकांश देश ब्रिटिश साम्राज्य के उपनिवेश थे।

 

  • इसका मुख्यालय लंदन में स्थित है।

 

09. इसरो ने फ्रेंच गयाना के कौरू से जीसैट-24 का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया

 

  • जीसैट-24 भारत का संचार उपग्रह है। इसे इसरो ने एनएसआईएल के लिए बनाया है।

 

  • इसे फ्रांस की कंपनी एरियनस्पेस ने लॉन्च किया।

 

  • यह चार हजार एक सौ अस्सी किलोग्राम वजन वाला 24 केयू बैंड का संचार उपग्रह है जो पूरे भारत में डीटीएच ऐप की जरूरतें पूरी करेगा।

 

  • अंतरिक्ष क्षेत्र में सुधारों के बाद एनएसआईएल का यह पहला मांग आधारित संचार उपग्रह मिशन है।

 

  • एनएसआईएल ने समूची उपग्रह क्षमता टाटा प्ले को लीज पर दी है।

 

  • न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड (एनएसआईएल) अंतरिक्ष विभाग के तहत भारत सरकार की एक कंपनी है।

 

10. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'वाणिज्य भवन' एवं नए निर्यात (NIRYAT) पोर्टल का शुभारंभ किया

 

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के नए परिसर 'वाणिज्य भवन' का उद्घाटन किया, इसी के साथ एक नए पोर्टल निर्यात (NIRYAT) का भी शुभारंभ किया।

 

  • निर्यात पोर्टल आयात-निर्यात से ही जुड़ा हुआ है।

 

  • निर्यात पोर्टल का पूरा नाम नेशनल इंपोर्ट-एक्सपोर्ट रिकॉर्ड फॉर ईयरली एनालिसिस ऑफ ट्रेड है।

 

  • इस पोर्टल के जरिए आप आयात-निर्यात को लेकर कोई भी जानकारी एक जगह पर पा सकेंगे।

 

  • प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के अनुसार, NIRYAT को भारत के विदेश व्यापार से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी प्राप्त करने के लिए हितधारकों के लिए वन-स्टॉप प्लेटफॉर्म के रूप में विकसित किया गया है।

 

  • प्रधानमंत्री निर्यात पोर्टल का शुभारंभ करने के अलावा वाणिज्य भवन का भी उद्घाटन करेंगे।

 

  • इंडिया गेट के पास बने इस भवन को स्मार्ट इमारत के रूप में डिजाइन किया गया है, जिसमें एनर्जी की बचत पर खासतौर से ध्यान दिया गया है।

 

  • इस भवन का इस्तेमाल मंत्रालय के दो विभाग वाणिज्य विभाग और उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग दोनों ही करेंगे।

Ready to start?

Download our mobile app. for easy to start your course.

Shape
  • Google Play