करेंट अफेयर्स 27 जून 2022

Blog
27-Jun-2022 10+

करेंट अफेयर्स 27 जून 2022

01. एस.एस. मुंद्रा को नियुक्त किया गया बीएसई (बंबई स्टॉक एक्सचेंज) का अध्यक्ष

 

  • बीएसई (बंबई स्टॉक एक्सचेंज) के अनुसार, दुनिया के सबसे बड़े स्टॉक एक्सचेंज का नेतृत्व की ज़िम्मेदारी अब एक जनहित डायरेक्टर एस.एस. मुंद्रा के ऊपर है।

 

  • मुंद्रा, न्यायमूर्ति विक्रमजीत सेन की जगह लेंगे। तीन साल तक सेवा देने के बाद, मुंद्रा ने जुलाई 2017 में भारतीय रिज़र्व बैंक के डिप्टी गवर्नर के रूप में अपना पद छोड़ दिया।

 

  • इससे पहले, उन्होंने जुलाई 2014 में सेवानिवृत्त होने तक, बैंक ऑफ बड़ौदा में अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के पदों पर कार्य किया।

 

  • मुंद्रा ने अपने 40 से अधिक वर्षों के बैंकिंग करियर में कई महत्वपूर्ण पदों पर कार्य किया है, जिसमें यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के कार्यकारी निदेशक और बैंक ऑफ बड़ौदा (यूरोपीय संचालन) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी शामिल हैं।

 

  • इसके अतिरिक्त, उन्होंने वित्तीय स्थिरता बोर्ड और इसकी कई समितियों में G20 फोरम के नामांकित व्यक्ति के रूप में RBI का प्रतिनिधित्व किया।

 

  • इसके अतिरिक्त, उन्होंने ओईसीडी के लिए वित्तीय शिक्षा के उपाध्यक्ष के अंतर्राष्ट्रीय नेटवर्क के रूप में कार्य किया।

 

  • उन्होंने आरबीआई से पहले कई बहुआयामी व्यवसायों के बोर्ड में कार्य किया, जिसमें क्लियरिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड और सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विसेज लिमिटेड (सीडीएसएल) शामिल हैं।

 

02. ‘मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना’

 

  • राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहल पर प्रदेश में कक्षा एक से 8वीं तक के बच्चों को ‘मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना’ के तहत सप्ताह में दो दिन दूध उपलब्ध करवाया जाएगा।

 

  • योजना के तहत राजकीय विद्यालयों में अध्ययनरत् करीब 69 लाख 21 हज़ार बच्चों को पाउडर से तैयार दूध सप्ताह में दो दिन मंगलवार एवं शुक्रवार को उपलब्ध करवाया जाएगा।

 

  • इन दिनों में अवकाश होने पर अगले शैक्षणिक दिवस को दूध उपलब्ध करवाया जाएगा।

 

  • कक्षा एक से 5 तक के बच्चों को 150 मिलीलीटर एवं कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों को 200 मिलीलीटर दूध वितरित किया जाएगा।

 

  • गौरतलब है कि इस योजना की घोषणा वित्तीय वर्ष 2022-23 के राज्य बजट में की गई थी।

 

  • इस योजना के लागू होने से कक्षा एक से 8वीं तक के बच्चों के पोषण स्तर में सुधार होने के साथ ही राजकीय विद्यालयों में नामांकन एवं उपस्थिति में वृद्धि होगी और विद्यार्थियों का ड्रॉपआउट भी रुक सकेगा।

 

  • इसके लिये पाउडर मिल्क की खरीद राजस्थान को-ऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन से की जाएगी तथा मिड-डे मील आयुक्तालय के माध्यम से पाउडर मिल्क का ज़िलेवार आवंटन किया जाएगा।

 

  • आरसीडीएफ द्वारा ही आवंटन के अनुसार विद्यालयों तक पाउडर मिल्क की डोर स्टेप डिलिवरी की जाएगी।

 

03. 'श्याम सरन' करेंगे इंडिया इंटरनेशनल सेंटर का नेतृत्व

 

  • पूर्व विदेश सचिव तथा परमाणु मामलों और जलवायु परिवर्तन के लिए प्रधानमंत्री के विशेष प्रतिनिधि रहे  श्याम सरन को इंडिया इंटरनेशनल सेंटर के अध्यक्ष बनाया गया है।

 

  • साल 2010 में प्रशासन छोड़ने के बाद, उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के तहत राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया है।

 

  • साल 2011 से 2017 तक आर्थिक मुद्दों में विशेषज्ञता वाले एक प्रसिद्ध थिंक टैंक, विकासशील देशों के लिए अनुसंधान और सूचना प्रणाली के निदेशक के रूप में कार्य किया।

 

श्याम सरण के बारे में :-

 

  • वह इंस्टीट्यूट ऑफ चाइनीज स्टडीज और सेंटर फॉर पॉलिसी रिसर्च के गवर्निंग बोर्ड के सदस्य हैं। हाउ इंडिया सीज़ द वर्ल्ड, उनकी पहली किताब, 2017 में प्रकाशित हुई थी।

 

  • उनकी दूसरी पुस्तक, "हाउ चाइना सीज़ इंडिया एंड द वर्ल्ड" का हाल ही में विमोचन किया गया।

 

  • सिविल सेवा में उनकी उपलब्धियों के लिए, सारण को 2011 में तीसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म भूषण मिला।

 

  • उन्होंने भारत और जापान के बीच संबंधों को बढ़ावा देने के लिए जापान के सम्राट से मई 2019 में स्प्रिंग ऑर्डर गोल्ड और सिल्वर स्टार प्राप्त किया।

 

04. ओडिशा ने राष्ट्रीय एमएसएमई पुरस्कार 2022 में प्रथम पुरस्कार जीता

 

  • ओडिशा के सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) विभाग ने एमएसएमई क्षेत्र के प्रचार और विकास में उत्कृष्ट योगदान के लिए राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को राष्ट्रीय एमएसएमई पुरस्कार 2022" श्रेणी में प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया।

 

  • सुमित मोहंती सेफरिस्क इंश्योरेंस ब्रोकर्स प्राइवेट लिमिटेड, भुवनेश्वर को "सेवा उद्यमिता के लिए पुरस्कार - सेवा लघु उद्यम (समग्र) श्रेणी में पहला पुरस्कार मिला।

 

  • कालाहांडी को "एमएसएमई क्षेत्र के प्रचार और विकास में उत्कृष्ट योगदान के लिए आकांक्षी जिलों राष्ट्रीय एमएसएमई पुरस्कार 2022" श्रेणी में तीसरा पुरस्कार मिला।

 

  • राष्ट्रीय एमएसएमई पुरस्कार 2022 कुल 44 श्रेणियों में दिया गया है।

 

  • राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों और आकांक्षी जिलों को उनकी क्षेत्र-विशिष्ट नीतियों और उनके प्रदर्शन, शिकायत निवारण, क्लस्टर दृष्टिकोण के कार्यान्वयन आदि के लिए राष्ट्रीय एमएसएमई पुरस्कार दिया गया है।

 

05. एनडीपीएस को वित्त मंत्रालय से गृह मंत्रालय में स्थानांतरित करने की योजना बना रही सरकार

 

  • सरकार नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक पदार्थ अधिनियम, 1985 और नारकोटिक और साइकोट्रोपिक पदार्थ अवैध व्यापार की रोकथाम अधिनियम, 1988 के प्रशासन को वित्त मंत्रालय से गृह मंत्रालय में स्थानांतरित करने की योजना बना रही है।

 

  • वर्तमान में, गृह मंत्रालय नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो को नियंत्रित करता है।

 

  • सरकार नशीले पदार्थों से संबंधित सभी मुद्दों को गृह मंत्रालय के तहत लाने की योजना बना रही है।

 

  • नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक पदार्थ अधिनियम, 1985 किसी व्यक्ति को किसी भी मादक औषधि के उत्पादन/निर्माण/खेती, और उपभोग से प्रतिबंधित करता है।

 

  • नारकोटिक और साइकोट्रोपिक पदार्थ अवैध व्यापार की रोकथाम अधिनियम, 1988 में मादक दवाओं और साइकोट्रोपिक पदार्थों के अवैध व्यापार को रोकने के प्रावधान हैं।

 

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो :-

 

  • इसकी स्थापना 1986 में हुई थी।

 

  • यह अवैध मादक पदार्थों की तस्करी पर नज़र रखने और अंतर्राष्ट्रीय नशीली दवाओं के कानूनों के कार्यान्वयन के लिए जिम्मेदार है।

 

  • सत्य नारायण प्रधान नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के महानिदेशक हैं।

 

06. वीएल-एसआरएसएएम प्रणाली (VL-SRSAM) का सफल उड़ान परीक्षण

 

  • जहाज-जनित हथियार प्रणाली वीएल-एसआरएसएएम (VL-SRSAM) का सफल उड़ान परीक्षण ओडिशा के तट पर किया गया।

 

  • ओडिशा में चांदीपुर के तट पर, भारतीय नौसेना और डीआरडीओ ने स्वदेशी रूप से विकसित जहाज-जनित हथियार प्रणाली का सफलतापूर्वक उड़ान परीक्षण किया।

 

  • जिसे वर्टिकल लॉन्च शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल (वीएल-एसआरएसएएम) के रूप में जाना जाता।

 

  • वीएल-एसआरएसएएम प्रणाली को 40 किमी से 50 किमी की दूरी और लगभग 15 किमी की ऊंचाई पर उच्च गति वाले हवाई लक्ष्यों पर हमला करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

 

  • इसे अस्त्र मिसाइल के आधार पर डिजाइन किया गया है जो कि एक बियॉन्ड विजुअल रेंज एयर-टू-एयर मिसाइल है।

 

  • क्रूसीफॉर्म विंग्स और थ्रस्ट वेक्टरिंग वीएल-एसआरएसएएम की दो प्रमुख विशेषताएं हैं।

 

07. नीति आयोग के सीईओ नियुक्त किये गए परमेश्वरन अय्यर

 

  • परमेश्वरन अय्यर को नीति आयोग का नया सीईओ नियुक्त किया गया है।

 

  • उन्हें दो साल की अवधि या अगले आदेश तक, जो भी पहले हो, के लिए नियुक्त किया गया है।

 

  • वह अमिताभ कांत का स्थान लेंगे, जिनका कार्यकाल 30 जून को समाप्त हो रहा है।

 

  • अमिताभ कांत को 17 फरवरी, 2016 को नीति आयोग के सीईओ के रूप में नियुक्त किया गया था।

 

  • अय्यर उत्तर प्रदेश कैडर के एक भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारी हैं।

 

  • उन्होंने विश्व बैंक में जल और स्वच्छता पहल में शामिल होने के लिए 2009 में आईएएस से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली थी।

 

  • उन्होंने 2016 और 2020 के बीच सरकार के स्वच्छ भारत मिशन का नेतृत्व किया।

 

  • उन्होंने पहले संयुक्त राष्ट्र में वरिष्ठ ग्रामीण जल स्वच्छता विशेषज्ञ के रूप में काम किया था।

 

  • नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी की नियुक्ति प्रधानमंत्री द्वारा एक निश्चित कार्यकाल के लिए की जाती है।

 

  • उन्हें भारत सरकार के सचिव के रैंक पर नियुक्त किया जाता है।

 

08. कैरेबियन मैंग्रोव दलदल में दुनिया के सबसे बड़े जीवाणु की खोज

 

  • हाल ही में वैज्ञानिकों ने कैरेबियन मैंग्रोव दलदल में दुनिया के सबसे बड़े जीवाणु की खोज की है।

 

  • यह जीवाणु कैरेबियन द्वीप समूह के ग्वाडेलोपे मैंग्रोव में पाया गया है।

 

  • इस जीवाणु को 'थियोमार्गारीटा मैग्निफिका' नाम दिया गया है।

 

  • अधिकांशतः जीवाणु सूक्ष्म होते हैं, लेकिन यह इतना बड़ा है कि इसे नग्न आँखों से भी देखा जा सकता है।

 

  • इस जीवाणु की औसतन लंबाई एक इंच के एक तिहाई भाग के बराबर पाई गयी है।

 

  • अध्ययन के मुताबिक टी. मैग्निफिका 2 सेंटीमीटर तक लंबा हो सकता है।

 

  • इसमें झिल्लियों का नेटवर्क है जो ऊर्जा का उत्पादन कर सकते हैं।

 

  • इसका डीएनए टी. मैग्निफिका कोशिका के भीतर छोटे झिल्लीनुमा अंगकों में होता है जिसे पेपिन कहते हैं।

 

09. मंकीपॉक्स को महामारी घोषित किया गया 

 

  • विश्व स्वास्थ्य नेटवर्क (World Health Network-WHN) ने वर्तमान मंकीपॉक्स प्रकोप को महामारी घोषित किया है।

 

  • अब तक 58 देशों में मंकीपॉक्स के 3,417 मामले सामने आए हैं।

 

  • हालाँकि, चेचक की तुलना में मंकीपॉक्स के मामलों में मृत्यु दर काफ़ी कम है।

 

  • WHN के मुताबिक़, यदि तत्काल कार्रवाई नहीं की गई तो इसका गंभीर प्रभाव देखा जा सकता है।

 

  • इस क़दम का मक़सद, व्यापक क्षति को रोकने के लिए एक ठोस वैश्विक प्रयास को बढ़ावा देना है।

 

  • गौरतलब है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा मंकीपॉक्स प्रकोप की पहचान पर फैसला किया जाएगा।

 

  • WHN ने विश्व स्वास्थ्य संगठन से तत्काल Public Health Emergency of International Concern (PHEIC) घोषित करने का आग्रह किया है।

 

विश्व स्वास्थ्य नेटवर्क (World Health Network) :-

 

  • यह विज्ञान आधारित वैश्विक, राष्ट्रीय और स्थानीय महामारी प्रतिक्रिया के विकास और निष्पादन हेतु समर्पित एक नेटवर्क है।

 

  • इसका गठन COVID-19 महामारी की प्रतिक्रिया स्वरूप एक टास्क फोर्स के रूप में किया गया था।

 

  • इसमें स्वतंत्र वैज्ञानिक सलाहकार और एडवोकेसी टीम और नागरिक कार्रवाई पहल शामिल हैं।

 

10. बहुउद्देशीय परियोजना 'पद्मा ब्रिज' का उद्घाटन

 

  • हाल ही में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने देश के नए ऐतिहासिक बहुउद्देशीय परियोजना 'पद्मा ब्रिज' का उद्घाटन किया है।

 

  • यह बांग्लादेश की एक मेगा परियोजना है जो पूरी तरह से बांग्लादेश सरकार द्वारा वित्तपोषित है।

 

  • अपने वित्त से पद्मा पुल का निर्माण करके बांग्लादेश सरकार ने दक्षिण एशिया के अन्य देशों के लिए एक मिसाल कायम किया है।

 

  • पुल का निर्माण 2015 में शुरू हुआ था, इसका आखिरी स्पैन दिसंबर 2021 में बनकर तैयार हुआ है।

 

पुल के बारे में :-

 

  • पुल को दुनिया में 122वें सबसे लंबे पुल का स्थान दिया गया है।

 

  • इसका निर्माण 30,193.6 करोड़ टका (USD 3.6 बिलियन) की लागत से किया गया है।

 

  • यह पुल 6.15 किलोमीटर लंबा है, ऊपरी डेक चार लेन का राजमार्ग है और निचले डेक पर दोहरी गेज रेलवे लाइनें है।

 

  • खंभों के बीच की दूरी 150 मीटर है जिसमें एक पिलर तक 122 मीटर गहरा (दुनिया में सबसे गहरी पिलिंग) है।

 

  • यह बांग्लादेश के दक्षिण-पश्चिम क्षेत्र को देश के बाकी हिस्सों से जोड़ता है।

 

  • इस पुल से ढाका से मोंगला समुद्री बंदरगाह के बीच की दूरी कम होगी है।

 

  • इस पुल से भारत में ढाका और कोलकाता के बीच यात्रा का समय लगभग आधा हो जाएगा।

 

  • पद्मा पुल के निर्माण से बेनापोल भूमि बंदरगाह और पेरा बंदरगाह को भी लाभ होगा।

Ready to start?

Download our mobile app. for easy to start your course.

Shape
  • Google Play